कोरोना महामारी में सेक्स के प्रति दिलचस्पी क्यों घटी?

संयुक्त राज्य अमेरिका में टेक्सास की एक सेक्स थेरेपिस्ट एमिली जेमिया का कहना है कि कोविड महामारी से पहले, कई जोड़े “हर रात दो जहाजों की तरह गुजरते थे।” लॉकडाउन कई पार्टनर्स के लिए राहत लेकर आया जो घर से बाहर अपने काम में व्यस्त थे। घर में रहने के कारण उन्हें आराम से एक साथ बैठने और एक दूसरे के साथ समय बिताने का मौका मिला। जेमिया के मुताबिक, ”शुरुआत में महामारी ने लोगों को एक-दूसरे से जुड़ने का मौका दिया, ठीक उसी तरह जैसे वे पहले छुट्टियों में मिलते थे.” लेकिन जैसे-जैसे महामारी बढ़ती गई, वैसे-वैसे इसके दुष्परिणाम भी दिखने लगे, खासकर शारीरिक संबंधों में। उनके अनुसार, “ज्यादातर जोड़ों में यौन इच्छा कम हो गई है।”

क्या ऐसा पूरी दुनिया में हुआ? दुनिया भर में किए गए अध्ययन ऐसी कहानियां बताते हैं। 2020 में तुर्की, इटली, भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका के शोधकर्ताओं ने पाया कि अपने साथी के साथ या उसके साथ एकमुश्त सेक्स में कमी आई और इसका सीधा संबंध लॉकडाउन से था। अमेरिका में किन्से इंस्टीट्यूट के रिसर्च फेलो जस्टिन लेमिलर के अनुसार, जहां अध्ययन हुआ, “मुझे लगता है कि एक बड़ा कारण था कि बहुत से लोग परेशान थे।”

महामारी और लॉकडाउन ने कई लोगों में भय और अनिश्चितता पैदा कर दी। कई लोगों ने अपने स्वास्थ्य को लेकर चिंता देखी, पैसों को लेकर अनिश्चितता बनी हुई थी और जीवन में कई अन्य बदलाव भी हो रहे थे। इन चीजों से होने वाली परेशानियों के साथ-साथ अपने पार्टनर के साथ ज्यादा समय बिताना, वो भी एक बंद कमरे में, इससे रिश्तों पर गहरा असर पड़ा है और सेक्स में कमी आई है। कोविड महामारी एक तरह से सेक्स के लिए काफी खराब साबित हुई है। . लेकिन क्या हम पुराने रिश्ते की ओर वापस जा पाएंगे या यह असर लंबे समय तक रहा है?

ALSO READ  पल भर में करोड़पति बना यह दुकानदार, उसके खाते में आए 9,99,99,999 रुपए
Updated: May 18, 2021 — 4:20 pm